अध्यापक पात्रता परीक्षा : (UPTET 2016) प्रथमिक स्तर(1-5) PRIMARY LEVEL(1-5) Answer Sheet

वैधानिक चेतावनी :- 
निम्न उद्घृत आंसर व्हाटऐप्स कॉपी पेस्ट है । प्रश्न P सीरीज के क्रम में हैं । दिए गए उत्तरों के प्रमाणिकता की जांच पुस्तकों के माध्यम से स्वयं कर लें । किसी भी उत्तर की असत्यता के लिए प्रकाशक ब्लॉग वेबसाइट जिम्मेदार नहीं होगा ।

भाग -1 (बाल मनोविज्ञान)
1.अंतर्मुखी, बहिर्मुखी ,उभयमुखी व्यक्तित्व का वर्गीकरण – युंग
2.uदहारण, निरिक्षण , विश्लेषण वर्गिकरन , नियमीकारण निम्न में से किस विधि के सोपान है – आगमन विधि
3.अवधान के आंतरिक अथवा व्यक्तिनिष्ट निर्धारक हैं – रूचि, लक्ष्य , अभिवृत्ति
4.बाल-मनोविज्ञान का क्षेत्र है – गर्भावस्था से किशोरावस्था की विशेषताओ का अध्ययन
5.वह अवस्था जो कि 21 वे गुणसूत्र जोड़े के अलग न हो पाने के कारण होती है, कहलाती है – डाउंस सिंड्रोम
6.कोह्ल्बेर्ग के अनुसार किस अवस्था में नैतिकता बाह्य कारको द्वारा निर्धारित होती है –पूर्व पारम्परिक अवस्था
7.निम्नमें से सही क्रम है – अंडाणु-शक्राणु,युग्म्नाज़,ब्लास्टोसिस्ट
8.s-o-r किसके द्वारा प्रस्तावित किया गया है –वाटसन
9.व्\ह मापनी जिसमे अंतराल मापनी के समस्त गुण के साथ परम्शुन्य भी हो , कहलाती है – अनुपात मापनी
10.फ्रायड के अनुसार हमारे मूल्यों का आंतरिकीकरण होता है – पराअहम(सुपर इगो)
11.व्यवहारवादी ने कहा –( तुम मुझे नवजात शिशु दो मैं उसे डाक्टर वकील चोर जो चाहे बना दूं ) – वाटसन
12.ध्यान आकर्षित होने में किसकी प्रमुख भूमिका होती है – उद्धिपन की सक्रियता
13.------छात्र में रूचि उत्पन्न करने की कला है –प्रेरणा
14.फ्रायड के अनुसार – “विस्मरण वह प्रवत्ति है जिसके द्वारा दुखद अनुभवों को स्मरति से अलग कर दिया जाता है”
15.यह आवश्यक नहीं है कि उच्च बुद्धि लब्धि वाले बच्चे .......में भी उच्च होंगे -– सृजनशीलता
16.ध्यान को केन्द्रित करने कि आंतरिक दशा है – रूचि
17.एक परिस्थिति में अर्जित ज्ञान का दुसरे परिस्थिति में उपयोग कहलाता है – सीखने में स्थानांतरण
18.अनुभव द्वारा व्यवहार में परिवर्तन कहलाता है – सीखना
19.संखिकी में वह रेखाचित्र जिसमे आवर्त्तियो को स्तंभों प्रदर्शित किया गया हो – स्ताम्भाकृति
20.विकास की किस अवस्था में बुद्धि का अधिकतम विकास होता है – किशोरावस्था
21.शिशु का अधिकांश व्यवहार आधारित होता है –मूल प्रवत्ति पर
22.अंतर्दृष्टि/सूझ द्वारा सीखने के सिद्धांत में कोहलर ने प्रयोग किया था –वनमानुषो पर
23.प्रेक्ष्नात्म्क अधिगम सम्प्रत्त्याय -----द्वारा दिया गया था – बन्दुरा
24.अधिगम में -----ने प्रभाव का सिद्धांत दिया था – थोर्न-ड़ायिक
25.निम्न में से किस विधि का उपयोग स्मृति मापन के लिए नहीं किया जाता –तार्किक विधि
26.प्रासंगिक अंतरबोध परीक्षण t.a.t. का विकास ---के द्वारा किया गया था- मुरे
27.मनोविज्ञान का शिक्षा के क्षेत्र में सबसे बड़ा योगदान – बाल्केंद्रित शिक्षा
28.निम्नलिखित में से कौन सा वृद्धि एवं विकास के सिद्धांतो से सम्बंधित नहीं है – वर्गीकरण का सिद्धांत
29.कक्षा शिक्षण में पाठ प्रस्तावना सोपान सीखने के किस नियम पर आधारित है – तत्परता के नियम पर
30.सम्प्रत्त्य निर्माण का प्रथम सोपान – प्रथक्करण
भाग -2 (हिंदी )
31.परमाल रासो – जगनिक
32..“दुल्हन गावहु मंगलाचार ....भरतार”- कबीरदास
33.हिंदी-प्रदीप – बालकृष्ण भट्ट
34.सूर्योदय = सूर्य + उदय
35.यथाशक्ति= अव्वयीभाव समास
36.इनमे से तद्भव – भंवरा
३७.मुदरी का तत्सम – मुद्रिका
38.हजारी प्रसाद का निबंध नहीं – वृत्त और विकास
39.उत्कर्ष का विलोम – अपकर्ष
40.आनंद-कादम्बिनी --- बद्री नारायण चौधरी प्रेमघन
41. म्रगावती –कुतुबन
42. निम्न में से शुद्द वर्तनी – अन्तर्राष्ट्रीय
43. आगे कुआँ पीछे खाई – दोनों ओर मुसीबत
44. रामचरित मानस की भाषा – अवधी
45. आदिकाल के लिए वीरगाथा काल – रामचंद्र शुक्ल
46.विनयपत्रिका की भाषा – ब्रजभाषा
47. ट वर्ग किस प्रकार का व्यंजन – मूर्धन्य
48. अष्ट-छाप के कवि नहीं है – नाभादास
49. जो वाणी द्वारा व्यक्त ना किया जा सके – अनिर्वचनीय
50. आचरण की सभ्यता – सरदार पूर्ण सिंह
५१. भूषन किस काल के कवि हैं – रीतिकाल
52. उत्साह किस रस का स्थायी भाव – वीर रस का
53. कवितावली –तुलसीदास
54. चौपाई के प्रत्येक चरण में कितनि मात्रा – 16
55. तेरी बरछि ने बर छीने खलन के – यमक अलंकार
56. अंधेर नगरी – भारतेंदु हरिश्चंद्र
57. आदिकाल में पहेलियाँ – अमीर खुसरो
58. पेड़ से बन्दर कूदा – अपादान कारक (अलग होने के किये)
59. श्रंगार का स्थायी भाव- रति
60. निम्न में तद्भव है – मछली
भाग -5 पर्यावरण
121. साबुन का विस्थापन – रीठा
१२२. वाहनीय इंधनों में प्रयावरण स्नेही – c.n.g.
१२३.किसी परितंत्र में तत्वों का चक्रण कहलाता है – जीव- भू रासायनिक चक्र
१२4. चिपको आन्दोलन –सुन्दर लाल बहुगुणा
१२५. इन्सुलिन – प्रोटीन (पेप्टाइड की श्रंखला)
१२६. पौधो में अर्धसूत्री विभाजन होता है – परागकण में
127.जैविक समुदाय का प्रथम उपभोक्ता – शाकाहारी
128. ज्वर नियंत्रण – पैरासीटामोल
129.दही निर्माण हेतु सूक्ष्म जीवी – लेक्टोबासिलिस
130.मानव रुधिर बर्ग की खोज – कार्ललैंड स्टीनर
131.प्याज आलू अदरक – जड़े (हालांकि हैं तनो से रूपांतरित जड़े)
१३२. एककोशिकीय सूक्ष्म जीव- परामीसियम
१३३.जो शाकाहारी जंतु भोजन के लिए हरे पेड़-पौधो पर निर्भर – प्रथम चरण उपभोक्ता
134. प्लेग है – जीवाणु जनित रोग
135. गैसीय अपशिष्ट – लकड़ी कोयला से जलने वाला धुंआ
१३६. पौधे दूर-दूर प्रसारित होंगे – बीज के द्वारा
137.जब एक जीव लाभ लेता है बगैर दुसरे सहवासी जीव को प्रभावित किये बिना तो कहलाता है – सहभोजी
138. मोर सांप को , सांप कीड़ो को कीड़े पौधे को खाते तो मोर- खाद्य पिरामिड के शीर्ष पर
139. कायांतरित रॉक – संगमरमर
140. महासागरो में कौन सा लवण – NaCl (सोडियम क्लोराइड)
१४१.राज्य सभा की सभाओ की अध्यक्षता – उपराष्ट्रपति
142. किस मिटटी का विस्तार भारत की सर्वधिक क्षेत्र पे – जलोढ़ मिटटी (40%)
१४३. निरिक्षण विधि की विशेषता नहीं – यह एक बाल्केंद्रित विधि जिसमे शिक्षक प्रसाशक
144. पर्यावरण की समस्या समाधान विधि का गुण – उपयुक्त सभी
145. प्रेक्षण विधि की सीमाए – उपर्युक्त सभी
146.इकोसिस्टम की सही परिभाषा- जीव समुदाय और उसके वातावरण का संतुलित तंत्र
147. मानव विकास के क्रम में दो पैरो से चलने का सबसे बड़ा लाभ- हाथ स्वतंत्र रूप से मस्तिष्क की आज्ञानुसार कार्य कर सकते है
148. भूकंप तीव्रता – सीस्मोग्राफ
149. सूर्य से निकटतम ग्रह – बुध
150. गिर राष्ट्रीय पार्क – गुजरात

एक टिप्पणी भेजें

 
Top