लखनऊ
अदालत ने इन युवाओं को भी 15000 रिक्तियों में आवेदन का मौका देने का आदेश दिया। अब इन पदों को भरने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

इन भर्तियों के लिए आवेदन कर चुके बीटीसी अभ्यर्थी पदों की संख्या बढ़ाए जाने की मांग कर रहे हैं। उनका कहना है कि हाईकोर्ट के आदेश के बाद आवेदकों की संख्या काफी बढ़ गई है, इसलिए सप्लीमेंटरी प्लान के 16448 पदों को भी इन रिक्तियों में शामिल करके मेरिट बनाई जानी चाहिए।

इसकी जानकारी मिलते ही शिक्षामित्रों के संगठनों ने भी विरोध शुरू कर दिया था। उनका कहना है कि ये पद शिक्षामित्रों को समायोजित करने के लिए रखे गए हैं, इसलिए इन्हें बीटीसी प्रशिक्षुओं से भरा जाना उचित नहीं।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top