अखिलेश सरकार ने पिछले साढ़े चार साल में विभिन्न परीक्षाओं के जरिए 458861 पदों पर युवाओं की भर्ती करा कर इनकी सरकारी नौकरी का रास्ता साफ किया है।

अब सरकार ने कहा है कि अधीनस्थ चयन सेवा आयोग एवं लोक सेवा आयोग से चयनित अभ्यर्थियों के नियुक्ति पत्र जल्द जारी किए जाएं। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की मंशा है कि चुने जाने के बाद युवाओं को नियुक्ति पत्र भी समय से जारी हो जाएं।

मुख्य सचिव राहुल भटनागर ने प्रमुख सचिवों एवं विभागाध्यक्षों से कहा है कि विभाग जारी किए गये नियुक्ति पत्र की विस्तृत सूचना पदवार आगामी 13 दिसम्बर को नियुक्ति एवं कार्मिक विभाग को उपलब्ध कराये।

उन्होंने यह भी कहा है कि चयनित सूची प्राप्त होने के बाद अनावश्यक रूप से विलम्ब कर नियुक्ति पत्र निर्गत न करने वाले अधिकारियों को चिन्हित कर उनके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई करने का प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाये।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में विभिन्न विभागों में अभी तक लगभग चार लाख 58 हजार 861 विभिन्न वर्ग के पदों पर अभ्यर्थियों की नियुक्तियों के लिए संस्तुति विभागों को की गई है।

इसमें लेखपाल से लेकर शिक्षा मित्र तक पद शामिल हैं। मुख्य सचिव आज यहां राज्य सरकार द्वारा पिछले कई सालों में कार्मिकों की गई भर्तियों की समीक्षा की।

साढ़े चार साल में इन प्रमुख विभागों में हुई भर्तियां

बेसिक शिक्षा विभाग 279530

पुलिस विभाग (भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड) 48,967

अधीनस्थ चयन सेवा आयोग 33,7०6

लोक सेवा आयोग 26,721

माध्यमिक शिक्षा 15378

राजस्व परिषद 14,126

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य 11,416

माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड 6,005

पावर कारपोरेशन लिमिटेड 5,2०7

चिकित्सा शिक्षा 5,052

ऊर्जा विभाग 4241

सहकारिता 2353

राज्य विद्युत उत्पादन निगम 1971

पशुधन 1,109,

नगर विकास 642,

उच्च शिक्षा विभाग 579,

सिंचाई विभाग 438,

पंचायती राज विभाग में 203,

आवास एवं शहरी नियोजन 114

उत्तर प्रदेश सहकारी चीनी मिल संघ लिमिटेड 29

राज्य सम्पत्ति में 22

एक टिप्पणी भेजें

 
Top