मुख्य सचिव राहुल भटनागर के हस्तक्षेप के बाद हो सकी डीपीसी की बैठक - अब लोक सेवा आयोग इलाहाबाद शीघ्र शासन को भेजेगा प्रोन्नति की सिफारिश - सिफारिश मिलने के बाद सचिवालय प्रशासन करेगा प्रोन्नति आदेश जारी विशेष संवाददाता - राज्य मुख्यालयसचिवालय के 204 सहायक समीक्षा अधिकारियों की समीक्षा अधिकारी के पद पर प्रोन्नति का रास्ता साफ हो गया है।

मुख्य सचिव राहुल भटनागर के हस्तक्षेप के बाद मंगलवार को 204 सहायक समीक्षा अधिकारियों की समीक्षा अधिकारी के पद पर प्रोन्नति के लिए आखिरकार डीपीसी की बैठक हो गई। लोक सेवा आयोग इलाहाबाद में हुई डीपीसी की बैठक के बाद अब जल्द ही आयोग प्रोन्नति की अपनी सिफारिश शासन को भेजेगा।

आयोग की सिफारिशें मिलने के बाद सचिवालय प्रशासन विभाग इन सहायक समीक्षा अधिकारियों की समीक्षा अधिकारी के पद पर प्रोन्नति के आदेश जारी करेगा। खास बात यह है कि लंबे समय से प्रोन्नति के लिए डीपीसी कराए जाने की मांग सचिवालय के संगठनों द्वारा की जा रही थी।

प्रोन्नति प्रस्ताव कई महीने पहले भेज दिया गया था लेकिन बैठक नहीं हो पा रही थी। पिछले दिनों सचिवालय संघ और कंप्यूटर सहायक एवं सहायक समीक्षा अधिकारी संघ के पदाधिकारी मुख्य सचिव राहुल भटनागर से मिले थे।

इस मुलाकात में उन्होंने सहायक समीक्षा अधिकारियों की लंबित डीपीसी कराने का अनुरोध किया था। जिस पर तत्काल मुख्य सचिव ने आयोग के अधिकारियों से बात की थी। आयोग के अधिकारियों ने उस समय शीघ्र डीपीसी कराने का आश्वासन दिया था।

आज डीपीसी हो भी गई। सूत्रों के अनुसार डीपीसी की बैठक में चयन वर्ष 2016-17 के विभागीय कोटे के 204 सहायक समीक्षा अधिकारियों के पदों के आधार पर प्रोन्नति के लिए 303 सहायक समीक्षा अधिकारियों को पात्रता सूची में शामिल किया गया।

सचिवालय कंप्यूटर सहायक एवं सहायक समीक्षा अधिकारी संघ के उपाध्यक्ष संजीव सिन्हा, मुकेश गुप्ता, सुनील मिश्रा, अजीत गुप्ता, राजेंद्र श्रीवास्तव, उपासना पांडेय आदि ने मुख्य सचिव व अपर मुख्य सचिव सचिवालय प्रशासन आदि अधिकारियों का आभार जताया है।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top