वाराणसी
यूपी बोर्ड परीक्षा की कॉपियों को ले जाने में लापरवाही बरतने वाले सात स्कूलों को नोटिस दी गई है। निर्धारित समय बीत जाने के बाद ये विद्यालय बोर्ड परीक्षा की कॉपियां नहीं ले गए हैं।

जिला विद्यालय निरीक्षक ने इन सभी स्कलों को निर्देश दिया है कि वे क्वींस कॉलेज से उत्तरपुस्तिकाएं उठा लें और 17 फरवरी तक स्पष्टीकरण दें। अन्यथा उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा है कि प्रधानाचार्यों को जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होना है।

जिला विद्यालय निरीक्षक ने बताया कि चार दिनों तक बोर्ड परीक्षा के सभी केंद्रों को 75 फीसदी उत्तरपुस्तिकाएं दे दी गई हैं। उन्हें साठ फीसदी 'बी' कापी भी दी जा रही है। इसके बाद आवश्यकता पड़ने पर उन्हें और कॉपियां दी जाएंगी।

विषय वाले अध्यापकों की नहीं लगेगी ड्यूटी
इस बार शिक्षकों को परिचय पत्र बनाने के लिए उनका पूरा शैक्षिक विवरण मांगा गया है। इस बार परिचय पत्र का फॉर्मेट बदला गया है।

शिक्षकों को यह भी बताना होगा कि उन्होंने परास्नातक के साथ स्नातक किन विषयों से किया है। इससे जिस विषय की परीक्षा होगी उसके विषय के शिक्षकों की ड्यूटी कक्ष निरीक्षक के रूप में नहीं लगेगी।

पहले परास्नातक के विषयों की जानकारी दी जाती थी। स्नातक के विषयों के बारे में नहीं बताया जाता था। ऐसे शिक्षकों की ड्यूटी विषय वाले दिन भी लग जाती थी। इससे नकल को बढ़ावा मिलता था। करीब चार हजार शिक्षकों की ड्यूटी बोर्ड परीक्षा में लगती है। बोर्ड परीक्षाएं 16 मार्च से हो रही है।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top