इलाहाबाद
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) से जुड़े स्कूलों में आगामी अप्रैल से शुरू होने वाले नए शैक्षिक सत्र से एनसीईआरटी (नेशनल काउंसिल ऑफ एजूकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग) की किताबें लागू की जाएंगी।

मानव संसाधन विकास मंत्री के निर्देश पर सीबीएसई ने यह फैसला लिया है। एनसीईआरटी की किताबों की सप्लाई के लिए मंत्रालय स्तर से प्रयास शुरू हो गए हैं।

सीबीएसई के संयुक्त सचिव की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि एनसीईआरटी की किताबों की छपाई और आपूर्ति के लिए देश भर में 680 केंद्र खोले जाएंगे। सीबीएसई ने संबद्ध स्कूलों के प्रधानाचार्यों को इस बारे में पत्र भेज दिया है।

संयुक्त सचिव मनोज कुमार श्रीवास्तव के मुताबिक सीबीएसई की पहली से बारहवीं कक्षा तक की किताबों की सप्लाई एनसीईआरटी की ओर से खोले जा रहे केंद्रों पर होगी।

अहमदाबाद, अजमेर, बंगलूरू, भोपाल, कोलकाता, मैसूर, शिलांग में एनसीईआरटी के सेल्स काउंटर हैं, जहां से छात्र और अभिभावक किताबें खरीद सकेंगे।

इसके अलावा एनसीईआरटी मुख्यालय से भी किताबों की बिक्री होगी। जिन शहरों में एनसीईआरटी के काउंटर नहीं हैं, वहां स्कूलों में बिक्री काउंटर खोलने के निर्देश दिए गए हैं।

सीबीएसई की ओर से कहा गया कि किताबों की सप्लाई के लिए स्कूल वाले उनकी वेबसाइट www.cbse.nic.in पर इनडेंट के जरिए अपनी आवश्यकता भेज सकते हैं।

इसमें स्कूल प्रशासन को कक्षा एवं किताबों की टाइटल का उल्लेख करना होगा। किताबों का इनडेंट भरने के लिए वेबसाइट 15 से 22 फरवरी के बीच खुली रहेगी। सीबीएसई और एनसीईआरटी किताबों की आवश्यकता के बारे में भेजे गए इनडेंट के हिसाब से सेल्स काउंटर एवं वेंडर्स के यहां उपलब्ध किताबों की निगरानी भी करेंगे।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top