लखनऊ।
हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने प्रदेश में एलटी ग्रेड सहायक शिक्षकों की होने जा रही भर्ती के मामले में राज्य सरकार से जानकारी तलब की है कि क्या आवेदन करने के दौरान 23 जनवरी से 26 जनवरी के बीच माध्यमिक शिक्षा परिषद की ऑनलाइन वेबसाइट में खराबी आ गई थी।

यह आदेश न्यायमुर्ति अनिल कुमार की खंडपीठ ने याची सुमन त्रिपाठी की ओर से दायर याचिका पर दिए हैं। राज्य सरकार की ओर से अपर मुख्य स्थाई अधिवक्ता पंकज पटेल ने अदालत से कहा कि इस मामले में वास्तविक स्थिति जानना जरुरी है लिहाजा उनको जानकारी प्राप्त करने के लिए समय दिया जाये।

कहा कि इस स्तर पर याची कोई अंतरिम आदेश पाने का हक़दार नहीं है। विदित हो कि सरकार ने प्रदेश में एल टी ग्रेड के सहायक अध्यापकों की भर्ती के लिए सरकार ने 19 दिसम्बर को विज्ञापन जारी किया था।

कहा गया कि विज्ञापन में 26 दिसम्बर से 26 जनवरी तक का समय ऑनलाइन आवेदन फार्म भरने के लिए दिया गया था। याची ने कहा कि 21 जनवरी को उसने रजिस्ट्रेशन फीस भी जमा कर दी थी।

याचिका में आरोप लगाया गया है कि माध्यमिक शिक्षा परिषद की वेबसाइट 23 जनवरी से अंतिम तारीख 26 जनवरी तक ख़राब हो गई जिससे याची समेत लाखो छात्र आवेदन फार्म भरने से वंचित रह गए।

कहा गया कि तकनीकी खराबी के चलते ऐसा हुआ इसमें याची की कोई गलती नहीं है। याची ने मांग की है कि उसका आवेदन फार्म जमा करने की अनुमति दी जाये।

सुनवाई के समय सरकारी वकील ने अदालत से कहा कि याची द्वारा लगाए गए आरोपों को इस स्तर पर तब तक सही नहीं माना जा सकता जब तक विभाग से वास्तविक जानकारी न प्राप्त कर ली जाए।

सरकारी वकील के आग्रह पर अदालत ने जानकारी प्राप्त करने का समय दिया है। अदालत ने इस मामले की अगली सुनवाई 16 फ़रवरी को नियत की है।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top