वाराणसी।
महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में छात्रों के एक समूह ने स्नातक परीक्षाओं में बैक पेपर की व्यवस्था समाप्त करने का विरोध किया है। उनका कहना है कि पुनर्मूल्यांकन की सुविधा पहले ही समाप्त कर दी गई है।

अगर बैक पेपर की सुविधा समाप्त कर दी गई तो छात्रों के सामने कोई विकल्प नहीं रह जाएगा। इस बाबत छात्रसंघ उपाध्यक्ष प्रेमप्रकाश गुप्ता, शशांक सिंह, अशोक यादव, इस्तखार अली, जावेद मुराद, सुजलराज सिंह, रोशन कुमार, विकास पटेल आदि ने कुलसचिव ओमप्रकाश को ज्ञापन भी दिया है।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top