इलाहाबाद : नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (नीट) के नियम में परिर्वतन को लेकर अभ्यर्थियों की नाराजगी कायम है। सीबीएसई द्वारा मिली सहूलियत को नाकाफी बताते हुए अभ्यर्थी उसे कोर्ट में चुनौती देने की तैयारी कर रहे हैं।

शनिवार को आजाद पार्क में अभ्यर्थियों की इसी संबंध में बैठक हुई। नितिन शुक्ल व अंकित द्विवेदी ने कहा कि नीट में आयु सीमा की बाध्यता गलत है। इससे वर्षो से तैयारी कर रहे अभ्यर्थी चाहकर भी डॉक्टर नहीं बन पाएंगे।

कहा कि सीबीएसई व यूपी बोर्ड पाठ्यक्रम में बहुत अंतर है। यूपी बोर्ड के अभ्यर्थियों को तैयारी का पर्याप्त समय नहीं दिया जा रहा है। नीट के पहले मेडिकल कालेजों में प्रवेश की फीस काफी कम थी जिसे अब बढ़ा दिया गया है।

यह भी कहा कि सरकार ने अगर जल्द नियम न बदला तो हम फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर करेंगे। इस बैठक में आदित्य सोनी, सच्चिदानंद चौहान, नितिन शुक्ल, अंकित द्विवेदी, प्रेम प्रकाश, शिवानी पाठक, प्रियंका माथुर, अंजली चौधरी सहित अन्य अभ्यर्थी मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top