मेरठ।
आईएससी, सीबीएसई और यूपी बोर्ड की परीक्षाओं की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। बोर्ड परीक्षा शुरू होने में मात्र 23 दिन बचे हैं।

आईएससी स्टूडेंट के पेपर पहले शुरू होंगे। यूपी बोर्ड को थोड़ा ज्यादा वक्त मिलेगा। तीनों ही बोर्ड के स्टूडेंट परीक्षा के लिए दिन-रात तैयारियों में जुट गए हैं। ऐसे में थोड़े समय में सबकुछ तैयार करने का दबाव छात्रों को मुश्किल में डाल सकता है।

आईएससी की परीक्षाएं एक मार्च से शुरू होंगे, जबकि सीबीएसई के नौ मार्च से। यूपी बोर्ड की परीक्षाएं 16 मार्च से शुरू हो जाएंगी। ऐसे में छात्रों के पास बेहद कम समय है।

आईएससी के छात्रों के पास परीक्षा में मात्र 23 दिन का समय है, जबकि सीबीएसई स्टूडेंट के पास 32 दिन का। यूपी बोर्ड के छात्रों को तैयारियों के लिए 39 दिन बचे हैं। कुल मिलाकर तीनों ही बोर्ड में छात्रों के पास अधिकतम एक महीने का ही वक्त है।

चूंकि बोर्ड परीक्षाओं के साथ अधिकांश स्टूडेंट इंजीनियरिंग और मेडिकल का एंट्रेंस भी देंगे, ऐसे में साइंस स्टूडेंट पर सर्वाधिक दबाव होगा। ऐसे में अनावश्यक तनाव के बजाय फोकस तैयारी बेहतर राह दिखाएगी।

क्या करें, क्या न करें

1...टाइम मैनेजमेंट पर फोकस करें।

रिवीजन करें। जो तैयार है उसी पर केंद्रित रहें।

दस वर्षों के सैंपल पेपर को अवश्य देख लें।

तय समय के अनुसार पेपर करने ही प्रैक्टिस करें।

मॉर्निंग एवं इवनिंग वॉक को शिड्यूल में शामिल करें।

दिन में एक घंटा अपनी हॉबी को अवश्य दें।

टीचर छात्रों की मद्द को तैयार रहें। उन्हें प्रोत्साहित करें।

(सुधांशु शेखर, अध्यक्ष, सहोदय एवं प्रिंसीपल केएल इंटरनेशनल)

2...तनाव बिल्कुल न लें।

बोर्ड परीक्षा को हौव्वा न समझें।

कठिन विषयों पर समय दें।

विषय के एक्पर्ट से सलाह लेते रहें।

एक ही समस्या को लेकर न बैठे रहें।

छह से आठ घंटे की नींद लें।

परिजन बच्चों को हौसला बढ़ाएं।

(डॉ.पूनम देवदत्त, काउंसलर, सीबीएसई)

3...केवल पौष्टिक आहार लें।

फॉस्ट फूड पूरी तरह से बंद कर दें।

डाइट में दूध और जूस शामिल करें।

तीन से चार घंटे में कुछ न कुछ लेते रहें।

दिनभर की डाइट का समय निर्धारित करें।

(डॉ. उर्वशी त्यागी, डाइटिशियन)

एक टिप्पणी भेजें

 
Top