संसू, अंबेडकरनगर : शिक्षा व्यवस्था के नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाने वाले अवैध विद्यालयों को चिन्हित करते हुए अधिकारियों ने कार्रवाई का रास्ता साफ कर दिया है।

लिहाजा विगत वर्षों में चिन्हित हुए अवैध विद्यालयों को दोबारा चिन्हित करते हुए विभागीय अधिकारियों ने संचालकों को नोटिस जारी कर तत्काल विद्यालयों को बंद करने का दिया है।

जिलाधिकारी ने भी अवैध विद्यालयों को सात दिन के भीतर बंद करने का आदेश देते हुए मनमानी करने पर कठोर कार्रवाई की चेतावनी दी है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने अभिभावकों को नए सत्र से नजदीक के मान्यता प्राप्त अथवा परिषदीय विद्यालयों में बच्चों का नाम लिखवाने के लिए कहा है।

साथ ही अवैध विद्यालयों के बारे में भी अवगत कराने की अपील की है। इसका असर दिखने लगा है और कार्यालय में अवैध विद्यालयों के संचालन की काफी शिकायतें मिलने लगी हैं। फिलहाल अकबरपुर शिक्षाक्षेत्र में 61 अवैध विद्यालयों को चिन्हित किया गया है।

कटेहरी में 36 अवैध विद्यालय, जलालपुर में 45 अवैध विद्यालय, भियांव में 22 अवैध विद्यालय, टांडा में 48 अवैध विद्यालयों को चिन्हित किया गया है। वहीं भीटी शिक्षा क्षेत्र में 31 विद्यालयों के संचालन को अवैध घोषित किया गया है। टांडा नगर क्षेत्र में 12 विद्यालय बगैर मान्यता के संचालित पाए गए हैं।

बसखारी शिक्षाक्षेत्र में 11 अवैध विद्यालय तथा रामनगर शिक्षा क्षेत्र में 30 अवैध विद्यालयों को अधिकारियों ने अभी तक चिन्हित किया है। बताते चलें कि गत दो साल पहले जिले में करीब साढ़े तीन सौ अवैध विद्यालयों का चिन्हित किया गया था। इसके सापेक्ष मौजूदा समय में अवैध विद्यालयों की संख्या में इजाफा हुआ है। यह बात दीगर है कि अधिकारियों ने ऐसे विद्यालयों की संख्या में गिरावट दर्ज की है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जेएन सिंह ने बताया कि नोटिस जारी किया गया है। इसके बाद व्यापक निरीक्षण में प्रभावी कार्रवाई होगी।’

एक टिप्पणी भेजें

 
Top