इलाहाबाद :एक अप्रैल से शुरू हुए नए शैक्षिक सत्र 2017-18 में प्रत्येक खंड शिक्षाधिकारी को महीने में कम से कम 20 स्कूलों का निरीक्षण करना होगा। सचिव बेसिक शिक्षा परिषद संजय सिन्हा ने गुरुवार को सभी बेसिक शिक्षाधिकारियों को शैक्षिक गुणवत्ता सुनिश्चित कराने के लिए आवश्यक निर्देश दिए।

विकास खंड के सभी विद्यालयों में शैक्षिक कैलेंडर के अनुसार पठन-पाठन के लिए जिम्मेदार समझा जाएगा। प्रत्येक खंड शिक्षाधिकारी हर महीने कम से कम 20 स्कूलों का निरीक्षण कर निर्धारित प्रोफार्मा पर अपनी रिपोर्ट बीएसए को देंगे।

निरीक्षण मुख्य रूप से शैक्षिक होगा जिसमें प्रत्येक कक्षा में शैक्षिक कैलेंडर के अनुसार पाठ्यक्रम पूरा होने, उत्तरपुस्तिकाओं की जांच होने और बच्चों में शैक्षिक उपलब्धि की स्थिति का मूल्यांकन करेंगे।

खंड शिक्षाधिकारी किसी प्रकार की लापरवाही बरतते हैं और विकास खंड में शैक्षिक गुणवत्ता का स्तर खराब मिलता है तो उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। परिषदीय विद्यालयों में शैक्षिक गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए बीएसए और मंडलीय सहायक बेसिक शिक्षा निदेशक को भी वृहद स्तर पर निरीक्षण के निर्देश दिए गए हैं।

🎯अपनी हैंडराइटिंग में लिखनी होगी रिपोर्ट :
इलाहाबाद। सचिव संजय सिन्हा ने निरीक्षण रिपोर्ट के लिए प्रोफार्मा भी भेजा है। इस पर खंड शिक्षाधिकारियों को अपनी हैंडराइटिंग में रिपोर्ट लिखनी होगी। ऐसा इसलिए किया गया है ताकि खंड शिक्षाधिकारी निरीक्षण में लापरवाही न बरत सकें।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top