बागपत (जेएनएन)। जिले के परिषदीय स्कूलों में शिक्षा का हाल जानने निकली अधिकारियों की टीम सोमवार को सच जानकर सकते में आ गई।

डीएम के आदेश पर 674 स्कूलों में छापामारी हुई तो स्कूलों में बदहाली के साथ शिक्षकों व बच्चों की गैरहाजिरी का चौंकाने वाला सच सामने आ गया।

स्कूलों से एक हजार शिक्षक और 40 हजार बच्चे नदारद मिले। कई स्कूलों में बच्चे खेलते हुए और शिक्षक गप्पें मारते मिले।

डीएम हृदय शंकर तिवारी और सीडीओ हाकिम सिंह ने रविवार रात विभिन्न विभागों के 142 अधिकारियों को सोमवार सुबह सात बजे कलक्ट्रेट पहुंचने के आदेश दिए। सुबह निर्धारित समय पर पहुंचे अधिकारियों को डीएम ने प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों में छापा मारने का आदेश दिया।

करीब 7:30 बजे सभी अधिकारियों को स्कूलों की सूची सौंपकर रवाना कर दिया गया। अधिकारियों ने स्कूलों में दोपहर तक छापामारी की।

स दौरान कही मिड-डे मील बंद मिला, तो कहीं भोजन की गुणवत्ता बहुत खराब थी। किसी स्कूल में दूध का वितरण नहीं मिला तो कहीं फल का।

यही नहीं ज्यादातर स्कूलों में बच्चों के स्वास्थ्य परीक्षण का न रजिस्टर था न ब्योरा। सफाई तो शायद लंबे समय से हुई ही नहीं थी।

🎯सवालों पर मुंह ताकते रहे शिक्षक :-

अधिकारियों ने कुछ स्कूलों में मौजूद शिक्षकों से पाठ्यक्रम से संबंधित प्रश्न पूछे तो जवाब देने के बजाय शिक्षक मुंह ताकते नजर आए। सीडीओ हाकिम सिंह ने बताया कि अफसरों की रिपोर्ट देखने से अभी तक यह बात सामने आई है कि जिले के कुल 32 फीसद शिक्षक तथा 62 फीसद बच्चे अनुपस्थित मिले हैं।

इस लिहाज से करीब एक हजार शिक्षक तथा 40 हजार बच्चे अनुपस्थित मिले। सीडीओ ने बताया कि सभी शिक्षकों का वेतन काटा जाएगा और जवाब तलब किया जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top