संवाद सूत्र, लखना : महेवा ब्लॉक के परिषदीय विद्यालयों में छात्र तिहाई संख्या में भी नहीं आ रहे हैं, वे परिवार के साथ गेहूं फसल की कटाई में लगे हैं। शिक्षकों ने गांव में जाकर कई अभिभावकों से संपर्क किया तो ये बात सामने निकल के आई।

उल्लेखनीय है कि महेवा ब्लॉक के तमाम विद्यालयों में छात्र संख्या के सापेक्ष शिक्षक अधिक तैनात हैं। 1सुबह करीब 9 बजे व्यासपुर उच्च प्राथमिक विद्यालय में कुछ बच्चे स्कूल के बाहर प्राइमरी स्कूल से बाल्टी भरने जा रहे थे। सहायक अध्यापक सत्यवती व राजकुमार यादव बरामदे में और बच्चे कक्षाओं में बैठे थे।

प्रधानाध्यापक जितेंद्र त्रिपाठी व एक अन्य सहायक अध्यापक अग्निमेष दुबे अवकाश पर थे और विद्यालय में पंजीकृत 85 के सापेक्ष लगभग 20 बच्चे मौजूद थे। उधर प्राथमिक विद्यालय व्यासपुर में तीन शिक्षक बच्चों को मैदान में बैठाकर पढ़ा रहे थे जबकि प्रधानाध्यापक अर्चना चौधरी दो दिन के अवकाश पर बताई गईं। विद्यालय में कुल छात्र संख्या 86 के सापेक्ष 19 बच्चे मौजूद थे।

प्राथमिक विद्यालय कोठी पर सवा नौ बजे प्रधानाध्यापक मंजरी श्रीवास्तव व एक सहायक अध्यापक प्रीती वर्मा एक ही क्लास में बैठकर बच्चों को पढ़ा रही थीं। यहां कुल 6 अध्यापक तैनात हैं जिसमें लक्ष्मी व अंशुल वर्मा सीएल पर बताई गईं, सुमेधा मातृत्व अवकाश पर थीं व पूजा वर्मा एक दिन के अवकाश पर थीं।

यहां पंजीकृत 60 बच्चों के सापेक्ष 16 बच्चे मौजूद थे। यहां गौरतलब यह है कि इस विद्यालय में 60 बच्चों पर 6 शिक्षक तैनात हैं जो शिक्षक-छात्र अनुपात का खुलेआम उपहास है।

नौधना प्राथमिक विद्यालय में करीब पौने दस बजे सहायक शिक्षक नीरजा यादव, प्रियंका चतुर्वेदी, सोनी तिवारी, अंजलि व शिक्षा मित्र चंद्रप्रकाश कक्षाओं में बच्चों को पढ़ाते मिले और 92 में से करीब 40 बच्चे मौजूद थे। प्रधानाध्यापक राजू ने बताया कि वे कई अभिभावकों से बच्चों को विद्यालय भेजने के लिए संपर्क करके आए हैं,अधिकांश बच्चे गेहूं की कटाई कर रहे हैं। उच्च प्राथमिक विद्यालय नौधना में सहायक शिक्षिका अपने छोटे बच्चे को गोद में लेकर स्कूल के बरामदे में सुलाती मिलीं ।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top