राब्यू, लखनऊ : मुख्य सचिव राहुल भटनागर ने कहा है कि विभिन्न विभागों में संविदा, दैनिक वेतनभोगी एवं आउटसोसिर्ंग के माध्यम से नियोजित भविष्य निधि की सुविधा प्राप्त नहीं करने कर्मचारियों के नामांकन कराने को विशेष अभियान जून माह तक चलाया जाएगा।

मुख्य सचिव ने बुधवार को शास्त्री भवन स्थित कार्यालय में क्षेत्रीय समिति ईपीएफ बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि कर्मचारी पेंशन योजना-1995 के तहत निर्धारित सेवा अवधि व आयु पूर्ण होने पर कर्मचारी को तथा मृत्यु की दशा में परिजनों को न्यूनतम एक हजार तथा अधिकतम 7500 रुपये प्रतिमाह दर से पेंशन भुगतान होगा।

उन्होंने निर्देश दिए कि भविष्य निधि संगठन के क्षेत्रीय, उपक्षेत्रीय कार्यालयों यथा लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, इलाहाबाद, गोरखपुर, बरेली, आगरा, मेरठ अथवा ईपीएफओ की वेबसाइट से समन्वय स्थापित कर कर्मचारियों को भविष्य निधि व पेशन लाभ प्रदान करने की कार्रवाई की जाएं।

अपर मुख्य सचिव आरके तिवारी ने बताया कि गत तीन माह में 5 लाख 50 हजार कर्मचारी पंजीकृत कराए गए है। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों में सभी कर्मियों को अधिनियम के अंतर्गत पंजीकृत कराने के निर्देश दिए गए हैं। संबंधित विभागों से प्रगति रिपोर्ट 31 मई तक प्राप्त की लाएगी।

बैठक में अपर मुख्य सचिव श्रम आरके तिवारी के अलावा भारत सरकार के अधिकारी भी उपस्थित थे।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top