यूपी के लखीमपुर के बीएसए ऑफिस के लेखा विभाग में डीएम अचानक इंस्पेक्शन करने पहुंचे। खास बात ये हैं की डीएम साहब पैदल ही आम आदमी की तरह विभाग में जा पहुंचे। जैसे ही उन्होंने एंटर किया, वहां के सरकारी बाबू उन्हें पहचान न सके और उनके साथ 'सेटिंग' शुरू कर दी। इतना ही नहीं बाबू ने डीएम से कहा, 'किनारे खड़े रहो अभी बताता हूं।' ऑफिस का ऐसा हाल देखकर डीएम का पारा चढ़ गया। वहीं एक रिटायर्ड महिला टीचर ने डीएम को समाने देख रो-रोकर अपना दुखड़ा सुनाया।

🎯आगे पढ़िए पूरा मामला...
- मामला लखीमपुर खीरी में स्थित बीएसए ऑफिस के लेखा विभाग का है। यहां डीएम आकाशदीप शनिवार को अचानक इंस्पेक्शन करने पहुंचे।

- इस दौरान डीएम साहब ने अपनी कार को सड़क पर ही छोड़ दिया और आम आदमी की तरह पैदल ही विभाग में जा पहुंचे।

- जैसे ही उन्होंने एंटर किया, वहां के कर्मचारी उनको पहचान नहीं पाए और उनके साथ सही से पेश नहीं आए।

- वहीं, डीएम ने एक 4 साल पहले रिटायर हो चुके बाबू से पेंशन बनवाने की बात कही तो उसने डीएम से ही सेटिंग शुरू कर दी। इतना ही नहीं बाबू ने डीएम से कहा, 'किनारे खड़े रहो अभी बताता हूं।'

- इसी दौरान जब डीएम के स्टेनो ने डाटा कि 'जानते नहीं ये डीएम हैं ये, इसपर सभी खड़े अफसर के खड़े हो गए।

🎯अपनी सीटों से नदारद मिले सरकारी बाबू :-

- वहीं, एक रिटायर्ड महिला टीचर ने तो रो-रोकर अपना दुखड़ा सुनाया। महिला ने बताया, ''किस तरह जांच के नाम पर लेखा विभाग उसकी पेंशन फंसाए हुए है। वो डेढ़ साल से एड़ियां घिस रही है।'

- इसके बाद डीएम ने एबीएसए से जानकारी ली तो उसकी शिकायत सही पाई गई। फिर डीएम ने ऑफिस को अच्छी तरह चेक किया। कई कर्मचारी अपनी सीटों से नदारद मिले।

- ऑफिस का हाल और रवैया देखकर डीएम का पारा चढ़ गया। उन्होंने लेखा अधिकारी और बीएसए को तलब किया और जांच के आदेश दे दिए।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top