संवाद सूत्र, फैजाबाद : प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने मातृ भाषा में शिक्षा ग्रहण करने की वकालत की। उन्होंने कहाकि प्राथमिक व माध्यमिक कक्षाओं में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ने के लिए होड़ मची हुई है, जबकि मातृ भाषा में शिक्षा ग्रहण करना सरल और सहज है। उन्होंने कहाकि मातृ भाषा में पढ़ाई की बात सिर्फ मंच से ही न हो, बल्कि इसके लिए जनमत भी तैयार किया जाए।

राज्यपाल यहां भारतीय शिक्षण मंडल की तीन दिनी कार्यकारिणी की बैठक के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहाकि शिक्षा में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार है। भ्रष्टाचार की वजह से ही एक वीसी को निलंबित करना पड़ा। शिक्षा में भ्रष्टाचार और नकल को कैंसर के समान बताया और इसे खत्म करने का आह्वान किया। राज्यपाल ने कहाकि, उच्च शिक्षा में शैक्षिक कैलेंडर महत्वपूर्ण होता है। प्रवेश, परीक्षा समय पर हो। परीक्षा नकलविहीन हो और नतीजे समय से आएं, इसका खास ख्याल रखना होगा।

शिक्षा की गुणवत्ता पर जोर देना होगा। उन्होंने कहाकि मंडल की बैठक में जो निष्कर्ष निकलेंगे उन्हें विश्वविद्यालयों में भी लागू करने पर विचार किया जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top