डिप्लोमा इन एलीमेंटरी एजुकेशन (पूर्व में बीटीसी) 2016 सत्र में निजी अल्पसंख्यक कॉलेज सिर्फ 50 प्रतिशत (25 सीटों) पर ही सीधे प्रवेश दे सकेंगे। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी डॉ. सुत्ता सिंह ने बुधवार को इस संबंध में विज्ञप्ति जारी की है।

साथ ही डायट एवं निजी डीएलएड कॉलेजों को निर्देशित किया है कि दिशा-निर्देशों के लिए वेबसाइट www.examregulatoryauthority.in और upbasiceduboard.gov.in को लगातार देखते रहे। राज्य सरकार ने 10 जून 2015 को जारी आदेश में निजी अल्पसंख्यक कॉलेजों को सभी 50 सीटों पर अपने स्तर से दाखिला देने का अधिकार दिया था।

एक याचिका की सुनवाई में हाईकोर्ट ने सभी 50 सीटों पर सीधे प्रवेश का अधिकारी दिए जाने संबंधी शासनादेश पर 9 फरवरी 2017 को रोक लगाते हुए सिर्फ आधी (25 सीटों) पर निजी अल्पसंख्यक को प्रवेश देने और बची हुई 25 सीटों पर काउंसिलिंग के लिए प्रवेश के आदेश दिए थे। विशेष सचिव उदयभानु त्रिपाठी ने बदलाव संबंधी आदेश 25 मई को जारी किए थे।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top