कानपुर प्रमुख संवाददाता फर्जी नियुक्ति पत्र पर अस्पतालों में नौकरी लगवाने के खेल का शुक्रवार को खुलासा हो गया। उर्सला अस्पताल में सरगना समेत दो लोगों को दबोच लिया गया है।

आरोपी स्वास्थ्य विभाग में संविदा कर्मियों को नौकरी देने वाली एक कंपनी की तरह ही फर्जी कंपनी चला रहा था। लखनऊ में स्वास्थ्य विभाग में संविदा पर कर्मचारियों को टीएनएन नामक कम्पनी नियुक्त करने के लिए अनुबंधित है।

एएचएम कैम्पस में रहने वाले कपिल कुमार त्यागी ने इसी नाम से मिलती-जुलती न्यू टीएनएम वैकेंसी नाम से एक कंपनी बना ली और सरकारी अस्पतालों में वार्ड ब्वॉय व कम्प्यूटर ऑपरेटर के लिए नियुक्ति पत्र जारी करने शुरू कर दिए।

इसका खुलासा उस वक्त हुआ जब रायबरेली के अनूप कुमार गुप्ता को स्वास्थ्य विभाग में कम्प्यूटर ऑपरेटर का फर्जी नियुक्ति पत्र थमा दिया गया।

हालांकि इससे पहले बतौर वार्ड ब्वॉय उर्सला अस्पताल में ट्रेनिंग करने को कहा गया। अनूप शुक्रवार सुबह कानपुर आया और उसने उर्सला ओपीडी ब्लॉक में डॉ. गौतम जैन के चैम्बर के बाहर वार्ड ब्वाय की नौकरी शुरू कर दी।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top