राज्य ब्यूरो, लखनऊ : सोशल मीडिया पर वायरल हुए रोजगार सेवकों संबंधी फर्जी शासनादेश की जांच कराए जाने की बात कहते हुए ग्राम्य विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा.महेंद्र सिंह ने आरोप लगाया कि कुछ असामाजिक तत्व सरकार की छवि खराब करने की कोशिश में लगे है।

ऐसी ताकतों को बेनकाब करने के लिए फर्जी शासनादेश की जांच होगी। उन्होंने कहा कि सरकार रोजगार सेवकों की न्यायोचित मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करेगी।

किसी के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। उधर, रोजगार सेवकों के आंदोलन को समर्थन देने का एलान करते हुए कांग्रेस ने अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में जनसभा का फैसला लिया है।

संयोजक संजय दीक्षित ने आरोप लगाया कि भाजपा की नीयत मनरेगा को चौपट करने की है लेकिन कांग्रेस उनकी मनसूबे कामयाब नहीं होने देगी। उन्होंने फर्जी शासनादेश को रोजगार सेवकों का मनोबल तोड़ने की साजिश बताया।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top