प्राइमरी और मिडल स्कूल के शिक्षको पर आइये एक नज़र डाले  कि क्या-क्या करना पड़़ता है ?

1--कार्यवाहक प्रधानाध्यापक
2--विषय अध्यापक
3--कार्यालय बाबू
4-- चपरासी
5--डाकिया
6--ई-ग्राम प्रभारी
7--पोषाहार प्रभारी
8--नोडल अधिकारी
9--पुस्तकालय बाबू
10-- P,T,I .
11--जाति प्रमाण पत्र बनाना।
12--वोटर ID बनाना।
13--सर्वे करना।
14--मध्यान्ह भोजन।
15--बिल्डिंग बनाना।
16--प्रतियोगी परीक्षाओं में ड्यूटी।
17--मरम्त और रंगरोगन|
18--दवाई देना|
19--चुनाव करवाना|
20--SMC की मीटिंग करना|
21--विभिन्न प्रशिक्षणों में जाना|
22-- लेखाकार का कार्य|
23-- शिक्षण व्यवस्था हेतु अन्य स्कूल में|
24--बोर्ड परीक्षा में|
25- विभिन्न बैठकों में जाना जैसे ग्राम पंचायत ,आदर्श विद्यालय ,VC बैठक ,                              
26- स्वच्छता कार्यक्रमों का
27- स्वास्थ परीक्षण बच्चों का करवाना
28- आयरन टेबलेट वितरण                               
29- डायरी लेखन                              
30- रोजाना पौसाहार और अन्य सामाग्री खरीदना और स्टॉक रजिस्टर की पूर्ति करना                                  31- खेल कूद प्रतियोगिताओं का आयोजन करना
32- पाठ्यपुस्तकों का लाना ,वितरण करना 
33- प्रवेशोत्सव के समय और अन्य विभिन अवसरों पर रैलियों का आयोजन ,                           
34- बालकों के बैंक खाते खुलवाना 
35- विभिन्न उत्त्सव मनाना                                
36- अन्य समय समय पर सरकार द्वारा दिये जानें वाले आदेशों को लागू की पालना करना
37.मूत्रालय शौचालयों से मेदान,कक्षों ,और बच्चो की स्वच्छता का ख्याल रखना ।
38.वॄक्षारोपण करवाना ।
38.आधर कार्ड बनवाना और बेंक खाते भी खुलवाना है ।

एक काम का भी पूरा वेतन ना देकर दस पदों का काम करवाती है। फिर गलती निकालती है सरकार।
AC में बैठने वाले कमियाँ निकलना जानते।
काम करना नहीं जानते,

एक टिप्पणी भेजें

 
Top